Saturday, May 21, 2016

पानी से नहीं खेलें होली ...

पानी से नहीं खेलें होली 

मन में आपस में न रखें मलाल। 
हम प्रेम से खेलें रंग गुलाल। 
यह पर्व है ऐसा हम सब गले मिले। 
सब में आपस में स्नेह की ज्योति जले। 

 सदभावना से खेलें होली। 
 पानी से नहीं खेले होली। 

फाल्गुन महीना सब से निराला है। 
भ्रस्टाचारियो का बोलबाला है। 
पानी बचेगा भविष्य अच्छा रहेगा। 
अपना स्वास्थ्य सदा निरोगी रहेगा। 

 भारत की जनता है भोली।
 पानी से नहीं खेले होली।